Gujari Mahal Gwalior History in hindi

Gujari Mahal Gwalior : History in hindi

एक पत्थर दिल से तराशा जाए, थिरक उठे अंग परतिमा के बन्धु पूजा अर्चन से पहले मधुकर उस, फनकार शिल्पी को नवाजा जाए … Gujari mahal Gwalior को भले ही सन 1922 के बाद केन्द्रीय पुरातत्व संग्राहलय के नाम से जाना जाता है लेकिन उसके इतिहास में एक अमर प्रेम कहानी है. एक अति सुंदर […]