CINEMAHOLIC JIYA

असल भारत की एक झलक | surajkund craft mela

Spread the love

साल 2018 का फरवरी , एक गुनगुने महीने में हरियाणा सरकार ने परंपरा , विरासत और संस्कृति से भरपूर 15 दिवसीय मेले द्वारा सरगर्मियां पैदा की . मेरी जिंदगी में पहला मौका था जब मै किसी सांस्कृतिक मेले में गया. ये surajkund craft mela का ये यात्रा चिट्ठा काफी देरी से तक़रीबन दो महीने बाद लिख रहा हु फिर भी कोशिश करूँगा आपको भी लघु भारत की एक झलक दिखला सकू.

Surajkund Craft Mela

surajkund craft mela

शुरू करने से पहले surajkund craft mela के बारे में कुछ बाते बता दू , दरअसल सूरजकुंड मेले द्वारा सरकार की 1987 से एक कोशिश है भारत की सभ्यता उसकी संस्कृति को कायम रखने की , हर साल एक नए राज्य की थीम के अनुसार मेले की साज सज्जा की जाती है उसका खान पान , शिल्प कलाए दिखाई जाती है . हस्तशिल्प , हथकरघा कारीगरी के अलावा अलग अलग चौपाल पे गाने बजाने और नाचने का अयोजन होता है . कुल मिलाकर अपने शहर से दूर रहने वाले लोगो को उनके कल्चर से रूबरू करा देता है वो कल्चर जो की आधुनिक भारत में समय के साथ साथ विलुप्त होता जा रहा है .

surajkund craft mela की एक झलक

sunrise in fields,
कैमरे में कैद सफ़र की पहली तस्वीर ” सूर्योदय ” SUNRISE
SURAJKUND PARKING
मेले का प्रवेश द्वार ( गेट नंबर 1 )

bookmyshow से surajkund craft mela की  120 रुपए का टिकेट बुक करके जैसे ही प्रवेश द्वार पर गये वहाँ लगे झूले देखकर एक झटके में बचपन सामने आ गया जब कभी कभार किसी बड़े मेले में ये बड़े झूले लगते थे तो इसे ही दूर से देखते थे जेब में पैसे नहीं होते थे सवारी करने के और डर भी लगता था. खैर उन गुजरे हुए लम्हों के समंदर से बहार आकर अंदर प्रवेश किया हर तरफ झोपड़ीनुमा दुकानों में हस्तशिल्प का सामान बेचते देश विदेश के विक्रेता, मेले की एक ख़ास बात यंहा देश विदेश सब जगह के विक्रेता आते है कोई साडी कोई दरी कोई रंग बिरंगे गुल्लक बेचने वो भी एक वाजिब दाम पर न कोई बिचोलिया न कोई गलत कीमत सीधा विक्रेता का ग्राहक से आमना सामना होता है .

STALL IN SURAJKUND FAIR
मेला मैदान में बनी हुई झोपड़ीनुमा दुकाने

यू.पी नहीं देखा तो इंडिया नहीं देखा –

ये पंक्ति surajkund Craft mela मैदान में लगभग हर द्वार पर लिखी थी वजह ये है की इस बार का थीम  राज्य उत्तरप्रदेश था .

समूह के साथ आगे चलते गये , ये गुलदस्ते ये फर्नीचर तरह तरह के साज सज्जा के सामान, रंग बिरंगे चाय के कप जिनकी कीमत मात्र 50रुपए से शुरू थी . surajkund मेला सैंकड़ो शिल्पियों के लिए रोजी रोटी कमाने का एक अच्छा विकल्प बन गया है इसलिए वो अपनी मेहनत अपनी कारीगरी को पर्दर्शित करने यंहा आते है .

सूरजकुंड मेला
ओलिव वुड निर्मित (TUNISIA )
JIYA YADAV, surajkund mela 2019
संस्कृति से परे हटके जीया का ध्यान गोलगप्पो पर है

पुरे मेले को अच्छे से घूम लेने के बाद कुछ देर food कोर्ट के सामने कदम रुक गये , दरअसल इतना घूम लेने के बाद भूख लग जाती है . फूड कोर्ट को इसी मकसद से बनाया जाता है की मेले में कला के साथ साथ भारतीय व्यंजनों से भी लोगो को रूबरू कराया जाए हरियाणा का जलेबा , केरल का डोसा कुल्हड़ में मिलता मलाई वाला दूध आपको एक नये स्वाद का अनुभव देते है . हर तरह का खाना यंहा मिलता है  .

INDIAN CHAATWALA, FAST FOOD SELLER INDIA
बिना सामान खरीदे तस्वीरे लोगे तो इसे ही देखते ही हिंदुस्तान के कुछ विक्रेता

 

HARYANVI JALEBI - JALEBA
जलेबी ( IMAGE SOURCE – WIKIMEDIA COMMANS )

तक़रीबन इस मैदान में हर एक राज्य की प्रतिकृति देखने को मिल जाएगी जिनसे भारत की विविधता परिलक्षित होती है

सूरजकुंड का इतिहास

राजा सूरजपाल ने इस जगह की सुन्दरता से मोहित होकर यंहा सूर्य मंदिर और सूर्य सरोवर बनाया था , मंदिर का नमो निशान लघभग मिट चूका है लेकिन सरोवर के कुछ अवशेष नजर आ जाते है इसी जगह को सूरजकुंड  नाम दिया गया.

LOCAL SUNGLASS
ये बिकना तो जरूरी है भले हस्तशिल्प का मेला हो कुछ चोर बाजार की कला भी आपको नजर आएगी दाम वही 20, 50

surajkund craft mela की टिकट्स और पार्किंग के बारे में बताने का फायदा नहीं समय जा चूका है मेले का अब अगले वर्ष 2019 के फरवरी माह में तैयार रहिये एक बार फिर सरकार आपको माटी से जुड़ने का मौका देगी . मेले में स्टाल बुकिंग या अन्य जानकारी के लिए surajkund की वेबसाइट पर जाके संपर्क कर सकते है .

माफ़ कीजियेगा ज्यादा तस्वीरे साझा नहीं कर पाया डिलीट हो गई मस्ती मस्ती में  नया नया लिखने लगा हु, कोई गलती पकड़ में आये तो नजरअंदाज कीजिये , नमस्कार.

Post Author: rao ankit

few months ago in 2017 I decided I'd rather make no money and do what I love rather than make alot of money and hate my job. now i think choosing traveling is Best decision of my life

5 thoughts on “असल भारत की एक झलक | surajkund craft mela

    Jiya

    (April 4, 2018 - 10:32 pm)

    Your blogs are just awesome..I always read ur bolgs whenever I am getting bored and I feel so much fun and interesting.
    And ur photography is just 😍😍

    Ghanshyam singh

    (September 8, 2018 - 2:47 pm)

    Apka likhne ka style kafi accha h, maza ayaa. good work.

      rao ankit

      (September 8, 2018 - 8:09 pm)

      धन्यवाद घनश्याम जी

    Subrata Rana

    (November 17, 2018 - 10:47 am)

    I am GOI Sponsor Agency
    NBCFDC
    ID Card No 0014053
    please stall booking information

      rao ankit

      (November 17, 2018 - 10:59 pm)

      All the best

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.