Sand Dunes Of Khuri Desert - Hindi photo story

Sunset at Sand Dunes Of Khuri Desert, jaisalmer

Spread the love

एक घुमक्कड़ होने के नाते अगर जैसलमेर शहर की बात करू तो यंहा आकर्षक हवेलिया है, भव्य महल है और एक किला है जो जैसलमेर का स्वर्णिम इतिहास बयाँ करता है| जैसलमेर के लोगो के बोलने के सलीके से लेकर उनकी जीवनशैली, खान पान सब शाही है, लेकिन जैसलमेर केवल यहीं तक सीमित नहीं है| अगर आप जैसलमेर की असल जीवनशैली को करीब से देखना चाहते है तो आपको जैसलमेर से कुछ दूर निर्जन इलाको में बसे उन गाँवों में जाना होगा जो रेत के धोरो से घिरे है| उन गाँवों में बसे वो लुप्त होते जा रहे समुदाय जो कभी जैसलमेर के शाही जीवनशैली के हिस्सा थे| उनका पारंपरिक संगीत जो किसी जमाने में जैसलमेर के राज दरबार में गूंजता था, आज वो संगीत भी लुप्त होता जा रहा है|

मुझे ऐसी ही Offbeat जगह पसंद है जो भीड़ भाड़ से परे हो जहाँ कुछ नया अनुभव मिले,जहाँ अनजान लोगो से जुड़ने का मौका मिले| इसलिए अभी गत जैसलमेर दौरे के दौरान एक एसा ही गाँव देखने की योजना बनाई जो शहर से दूर सुनहरे रेत के धोरो के बीच बसा था| वो गाँव था जैसलमेर से करीब 50 किलोमीटर दूर बसा khuri गाँव, खुरी जाकर हम देख सकते है की कैसे लोग सदियों से रेगिस्तान में जीवन यापन करते आ रहे है| ये Khuri असल में Desert safari के लिए जाना जाता है , क्यूंकि खुरी गाँव के चारो तरफ रेत के टीले है जहाँ कैमल सफारी करवाई जाती है|

SAND DUNES, KHURI, JAISALMER
जैसलमेर शहर

जैसलमेर के मशहूर लाल मांस को चखने के बाद सूर्यास्त से कुछ देर पहले हमने खुरी डेजर्ट की ओर प्रस्थान किया जो की सबसे बढ़िया समय है अगर आप कैमल सफारी करना चाहते है तो| जैसलमेर से एक पतली सड़क कुलधरा होते हुए खुरी तक ले जाती है जहाँ बीच बीच में चिंकारा और नीलगाय सड़क के आसपास विचरण करते नजर आ जाएंगे| एक चिंकारा की तस्वीर लेने जब हम उतरे तो चिंकारा तो को तो कैमरे में कैद नहीं कर पाए मगर कुछ स्थानीय किशोर जरुर दिख गये जो हाथ में तरबूज लिए अपने गाँव की और जा रहे थे, यहाँ जो घर है इन लोगो के वो ज्यादातर कच्ची झोपडी होते है|

kids of jaisalmer, khuri desert road

शाम के यही कोई 4:30 बजे हम खुरी पहुंचे, जैसा की कल्पना की थी वैसा ही दूर तक फैले रेत के धोरे, दूर कहीं से आती पारंपरिक संगीत की आवाज, ऊंट| वहीँ एक किशोर ने कैमल सफारी के लिए हमें आमंत्रित किया, मेरे साथ आये दो अन्य पर्यटक ये अनुभव लेने को उत्साहित थे इसलिए वो रुक गये|

मै sam में ये अनुभव ले चूका हूँ इसलिए मै वहां नहीं रुका और चल दिया इन टीलो की पैदल यात्रा पर, एक ऐसी यात्रा जो पहले कभी नहीं की|

ऊँट वालो के सुर्ख चेहरे, गीला बदन और सूखा गला आधी खाली मशक |

ऊँटो के काफिले उनकी घंटियों की हवा के साथ जुगलबंदी , सोने से जगमगाते रेत के सूखे टिब्बे, रह रह कर उनमे उठता रेत का गुब्बार|

At Sand Dunes Of Khuri Desert

आसमान के बदलते रंगों को देखने के लिए मैं भी एक ऊँचे टीले पर बैठ गया, एक कविता मैंने लिखी उसको साझा करने से पहले Khuri sand dunes की कुछ तस्वीरे साझा कर रहा हूँ |

जैसलमेर के ऊंट
रेगिस्तान के जहाज
camel safari in khuri desert
Camel safari in khuri desert
sand dunes at khuri desert
golden sand dunes of khuri desert

पेश है कुछ पंक्तियां जो इस शांत माहौल में दिमाग में आई …

रेगिस्तान की शाम है और हवाओं से बनते जाते है निशां, मिटते जाते है निशां

दो अकेले कदम ना कोई रहनुमां न कोई हमसफ़र रेत के दिल में दफ़न है सपनो की नर्म साँसे

यह घुटी घुटी सी नर्म साँसे सपनो की , थके थके दो कदमो का सहारा लिए ढूंढती फिरती है, उजाड़ बियाबानो में शायद कोई साहिल मिल जाए

दिन के पहले पहर से लिपटे इन सपनो से इन भटकते कदमो से इन उखडती साँसों से कोई तो कह दो !

भला रेत के दिल में भी कहीं साहिल होते है |

साहब बियर पेप्सी कुछ लेंगे की आवाज कानो में पड़ी और इन कल्पनाओं के जंगल से जब मै बाहर निकला तो सूरज लघभग ओझल हो चूका था, हलकी हलकी संतरी चादर आसमान में फैली हुयी थी और मेरे साथी पर्यटक भी आगये थे| ये जो रेगिस्तान में बिताई शाम थी इसको मै बयाँ नहीं कर पाउँगा कभी चाहे कितनी भी कोशिश कर लूं |

इन रेत के धोरो के पास कुछ camp भी है जहाँ आप रात में ठहर सकते है वहीँ से कुछ लड़के बीयर बेचने पर्यटकों के पास आये हमने भी ये सोच के लुत्फ़ उठाया के ऐसी शाम ना जाने फिर कब आये|

beer party in desert
fellow travelers ( warning – consumption of alcohol is injurious to health )

धोरे पर मदिरा सेवन यात्रा का सबसे यादगार पल रहा वहां मौजूद ऊंट वालो के साथ बातचीत, उस दौरान कुछ जैसलमेर की अनसुनी कहानिया सुनने को मिली| जो कुछ डरावनी थी तो कुछ हसाने वाली, इन सब के साथ Khuri desert से विदा ली और चल दिए वापस जैसलमेर|

आसपास के camp में कालबेलिया समुदाय अपने न्रत्य और संगीत के साथ दिन के पहले पहर को यादगार बना रहे थे| अगर आप पहली बार जैसलमेर आये है तो camp में पहले से बुकिंग करके ही खुरी आयें, मै कई बार जैसलमेर आ चूका हूँ इसलिए camp बुक नहीं किया था|

कैसे पहुंचे खुरी ( Khuri Desert )

खुरी गाँव जैसलमेर से 50 किलोमीटर दूर निर्जन इलाके में बसा है इसलिए यहाँ खुद के वाहन या टैक्सी से जाना ही सर्वोत्तम है, एक दो सरकारी बस दिन में जैसलमेर से खुरी जाती है मगर वापसी में आने को कोई सामान्य परिवहन साधन नहीं मिलेगा| टैक्सी जैसलमेर से खुरी तक दो तरफा यात्रा के 800/1000 रुपए लेते है|

कहाँ ठहरे

खुरी में camp में रुकने के लिए 1000 रुपए प्रति व्यक्ति लिए जाते है इस कीमत में कुछ पारंपरिक कार्यक्रम और भोजन भी शामिल होता है इसके अलावा अगर camp में नहीं रुकना चाहते तो गेस्ट हाउस का भी विकल्प है|

खुरी डेजर्ट के पास कुछ सस्ते गेस्ट हाउस है जहाँ रुक सकते है जिनमे से एक सबसे बढिया बादल हाउस है, यहाँ से बुक कर सकते है ( बादल हाउस बुकिंग ) |

best time to visit Sand Dunes Of Khuri Desert

वैसे गर्मी के हिसाब से नवम्बर से मार्च तक का समय सर्वोतम है, लेकिन बजट ट्रेवल करते है तो ऑफसीजन में आये जो की जून से अक्टूबर तक होता है| इस दौरान रुकने और अन्य चीजो पर अच्छी छूट मिलती है|

Post Author: rao ankit

few months ago in 2017 I decided I'd rather make no money and do what I love rather than make alot of money and hate my job. now i think choosing traveling is Best decision of my life

1 thought on “Sunset at Sand Dunes Of Khuri Desert, jaisalmer

    Usha

    (October 25, 2018 - 6:20 am)

    Truly speaking,, u just amazed me 💕👌

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.